पड़ोसी के रहते मशरक थानेदार दिहले मानवता के परिचय, कान्हे लाग के करवले मृतक के दाह संस्कार

धर्मेंद्र पांडेय, भोजपुरी समय, मशरक, सारणः  हिंदू धर्म के परंपरा के अनुसार आजो कइगो अइसन काम बा जवन खाली घर के लोग चाहे पड़ोसीए कर सकेले, बाकिर कोरोना बेमारी के भय से शहर में त छोड़ीं गांवो-जवार में  लोग केहू के मृत्यु होखला पर गांव-घर छोड़के फरार हो जा रहल बाडें। अइसन में पुलिस आ प्रशासने आगे आके लोग के सहायता कर रहल बा। कुछ अइसने मामला बिहार के सारण जिला के मशरक प्रखंड में ओह बेरा देखे के मिलल जब एगो ग्रामिण के मृत्यु भइला पर मशरक थानाध्यक्ष ओकरा अंतिम संस्कार के बेवस्था करवले।

प्राप्त जानकारी के मोताबिक मशरक थाना क्षेत्र के सिसई गांव में दिलीप वर्मा (उम्र 56 बरिस) के आकस्मिक बेमारी से मौत हो गइल रहे। ओहिजा गांव में अफवाह फइल गइल कि दिलीप वर्मा के मौत कोरोना से भइल बा। एकरा बाद उनकरा आस-पड़ोस आ गांव के लोग कोरोना बीमारी के भय से गांव छोड़के फरार हो गइले। एकरा अलावा वर्मा के पड़ोसीयो लोग उनका दाह संस्कार में भाग लेवे से इंकार कर दिहले। अइसन में परिवार के सूचना पर मौका पर पहुंचल मशरक थानाध्यक्ष मानवता के परिचय देत आ सभ भय से मुक्त होके मृतक के दाह संस्कार करवले।  एक ओर जहां  घटना के सूचना पर पहुंचल रिश्तेदारो कोरोना के भय से डेराइल रहले। ओहिजा एह मौका पर मृतक के बेटा के द्वारा मशरक थानाध्यक्ष राजेश कुमार के फोन पर मामला के जानकारी दिहल गइल। आ थानाध्यक्ष राजेश कुमार  फर्ज आ मानवता के परिचय देत  मौका पर सिसई गांव पहुंचले जंहवां मृत पिता के शव घर में पड़ल रहे आ  माई-बेटा के रो-रो के बेहाल रहले। मौका पर पहुंचल थानाध्यक्ष श्री कुमार  गांव वाला के सामने मृतक के दाह संस्कार के मुद्दा रखले जवना पर गांव वाला समेत पड़ोसीयो देह झार लिहलें। ओहीजा थानाध्यक्ष  सूझबूझ के परिचय देत मशरक पीएचसी से मेडिकल टीम बोलाके माई बेटा के कोविड जांच करवले, जवना में जांच रिपोर्ट निगेटिव अइला पर ऊ गांव वालन के बहुत देरले समजावे के परयास कइले बाकि जब लोग ना मानल त अपनहीं  मृतक के शव के दाह संस्कार में मदद करत पिकअप वैन में रखवा के दाह संस्कार करवले।

एह घटना के बारे में मीडिया के बतावत थानाध्यक्ष कहलें कि मृतक के परिजन के द्वारा सारण पुलिस अधीक्षक के सूचना दिहल गइल रहे। जवना पर त्वरित कार्रवाई करत कोविड जांच कराके लोगन में फइलल भ्रम के दूर कइल गइल आ दाह संस्कार कर दिया गया। एखरा अलावा थानाध्यक्ष गांव वालन के समझावत ईहो कहलें कि “अफवाह पर ध्यान नइखे देवे के आ जे केहू कवनो तरह के अफवाह फइला रहल बा ओकर सूचना पुलिस के जरूर दीं।

Related posts

Leave a Comment

18 − seventeen =