सतुआन के लीं आनंद सतुआ के संग

आज सतुआन ह, आज पूर्वी उत्तर प्रदेश आ बिहार झारखंड में सतुआ खाए के परंपरा बा। आज जब हमनी सभे रोजी रोटी के फेरा में अंधाधुंध दउड़ रहल बानीं जा, आ कोरोना महामारी फेरु से तेजी से फइल रहल बा। अइसन में आईं पढ़ीं सतुआन पर लिखल आशा सिंह जी के ई संस्मरण आ लवट चलीं  अपना लड़िकाईं में आ सतुआन के आनंद पूरा परिवार के संगे उठाईंः आज भोरे से बहुत काम रहल ह। चैती छठ के बर्तन आ घर दुआर पोंछत पाछत अबेर हो गई ल ह। मन…

Read More