सतुआन के लीं आनंद सतुआ के संग

आज सतुआन ह, आज पूर्वी उत्तर प्रदेश आ बिहार झारखंड में सतुआ खाए के परंपरा बा। आज जब हमनी सभे रोजी रोटी के फेरा में अंधाधुंध दउड़ रहल बानीं जा, आ कोरोना महामारी फेरु से तेजी से फइल रहल बा। अइसन में आईं पढ़ीं सतुआन पर लिखल आशा सिंह जी के ई संस्मरण आ लवट चलीं  अपना लड़िकाईं में आ सतुआन के आनंद पूरा परिवार के संगे उठाईंः आज भोरे से बहुत काम रहल ह। चैती छठ के बर्तन आ घर दुआर पोंछत पाछत अबेर हो गई ल ह। मन…

Read More

पाती के संपादक वरिष्ठ भोजपुरी साहित्यकार डॉ. अशोक द्विवेदी के मिलल साल 2020 के अंजन सम्मान

राम प्रकाश तिवारी, भोजपुरी समय, अमहीं मिश्र गोपालगंजः 23 नवंबर 2020 के कोरोनाकाल का डेग-डेग पर बन्हन का बावजूदो अमहीं मिसिर, भोरे, गोपालगंज में इतिहास रचाइल, जब “जय भोजपुरी- जय भोजपुरिया” के अध्यक्ष सतीश कुमार त्रिपाठी (सपत्नीक) उपस्थित गणमान्य लोग ज्वाला सिंह (अध्यक्ष- सारण भोजपुरिया समाज, वरिष्ठतम सवांग- जय भोजपुरी-जय भोजपुरिया), विमलेन्दु भूषण पाण्डेय(संस्थापक- सारण भोजपुरिया समाज आ वरिष्ठ परामर्शी- जय भोजपुरी-जय भोजपुरिया), प्रखरवक्ता जीतेन्द्र द्विवेदी, केशव तिवारी (चुन्नू बाबा), भावेश अंजन, राम प्रकाश तिवारी(संपादक, भोजपुरी समय.डॉट कॉम)  आ अन्य का साथे दीया जरवनीं आ महाकवि “अंजन जी” का चित्र…

Read More

कोरोना आ लॉकडाउन के बहाने नवका पीढ़ी के अपना संस्कृति से करवाईं परिचय

Ramayan रामायण

मन बड़ा दुखाला जब छोट छोट बात प खून के रिश्ता के खून के आंस बहावत देखिला । कबो धन खातिर मान खातीर अपमान खातीर नावा के पावे बदे पुरान मजबुत रिश्ता के बंधन के ढिल होखत टूटत देखिना । कुछ अपवाद के छोड़ दिहल जाव त अधिकांश रिश्ता के फेड़ उहे हरियर बा जहँवा से कुछ मिलत होखे बा मिले के आस होखे । बाकी रिश्ता नाता त मुरझा रहल बा मसुवा रहल बा सोर जमीन छोड़हिं वाला बा हलुके हवा के जरूरत बा । जेके बोले सिखावल रहे…

Read More

फगुआ के बदलत स्वरूप

फगुआ के बदलत स्वरुप फगुआ कहते जवन चित्र दिमाग में उभरेला उ ह भोजपुरिया फगुआ के सामूहिकता के भाव । फागुन गजिबे महीना ह । फगुनी बयार एगो अलगे उमंग आ ख़ुशी के अहसास करावेली । प्रकृति से लेके जनावर आ अदिमी तक के ऊपर एकर खुमारी के असर लउके लागेला । अधपक गहूँ, हरियर मटर, पियराइल सरसो के फूल से सजल खेत….ओने आम के मोजर प इतरात भौंर आ एने महुवा के रसगर कोंच, फगुनी बयार के साथे कोल्हुवारे से आवत नावा गुर के सोन्ह सुबास … मन मस्त…

Read More

विंध्याचल में निकलल अनोखा शिव बारात

शिव विवाह में शामिल ब्रह्मा, विष्णु भी अपना खातिर दुल्हिन खोज के कइल लो बियाह। नितिन अवस्थी, भोजपुरी समय, मिर्ज़ापुर: माई विंध्यवासिनी के नगर विन्ध्याचल में महाशिवरात्रि के मौका पर एगो अलगे शिव बरात मय गाजा बाजा के अपना पूरा शान के संगे निकलल। एह शिव बरात में त्रिदेव ब्रह्मा, विष्णु आ महेश के सांचहू के बियाह भइल। त्रिदेव के रुप धइले ई तीनों बेकती अपना अपना दुल्हिन के संगे अगिनी के गोवाह मानके गृहस्थ आश्रम में प्रवेश कइल लोग। एह अनूठा बरात में बियाह के सभ बिधी-बेवहार नगर विधायक…

Read More

आरा में होखी 5 दिन के भोजपुरी नाट्योत्सव

 भोजपुरी समय, मनोरंजन डेस्क: नाट्यकर्म खातिर समर्पित दिल्ली के संस्था रंगश्री 2013 से लगातार भोजपुरी नाट्योत्सव के आयोजन करत आ रहल बा। हर साल के जइसन एह साल 6ठा भोजपुरी नाट्य महोत्सव के आगाज 1 मार्च से बाबू वीर कुअंर सिंह के पुण्य धरती भोजपुर के बहियारा (चांदी) में होखी। पांच दिन तक बहियारा में अलग-अलग पांचगो नाटक कइला के बाद बिहार के राजधानी पटना के कालीदास रंगालय में दूसरा चरण में चारगो प्रस्तुति आ फेर तीसरा चरण में देश के राजधानी दिल्ली के इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केन्द्र में…

Read More

16 फरवरी के सारण भोजपुरिया समाज छपरा मनाई मिलन सह सांस्कृतिक कार्यक्रम

छपरा आवे वाला 16 फरवरी के छपरा के सरस्वती शिशु विद्या मंदिर के प्रांगण में सारण भोजपुरिया समाज, छपरा के द्वारा पहिला परिवार मिलन सह सांस्कृतिक कार्यक्रम के आयोजन कइल जाई। ई बात के जानकारी मीडिया के एगो प्रेस गोष्ठी में सारण भोजपुरिया समाज के प्रमुख सवांग बिमलेंदु भुषण पांडे दिहलऽहन। मीडिया से बातचीत में पांडे जी कहले कि भोजपुरी भाषा में व्याप्त अश्लीललता के विरोध आ साफ-सुथरा साहित्य आ गीत गवनई के आगे बढ़ावे ला ई परिवार अपना अस्तित्व में अइला के पहिलके दिन से लागल बा। कार्यक्रम के…

Read More

पूर्वांचल समाज बृज विहार धूमधाम से मनवलस सरस्वती पूजा महोत्सव

गाजियाबाद पूर्वांचल समाज के लोग के एकजुट करे खातिर तीन साल पहिले शुरू कइल गइल सरस्वती पूजा महोत्सव के तीसरा संस्करण के आयोजन बहुत धूमधाम से मनावल गइल। एह अवसर पर पूर्वांचल समाज बृज विहार के द्वारा लइकन खातिर विभिन्न आयु वर्ग में ड्रॉइंग कॉम्पीटिशन के आयोजन कइल गइल जवना में क्षेत्र के बच्चा बढ़चढ़ के हिस्सा लिहलन आउर आपन चित्रकला के प्रदर्शन कइलन। एह कॉम्पीटिशन में निर्णायक के भूमिका में मिथिला पेंटिंग के ख्याति प्राप्त चित्रकार अर्चना झा जी रहलीं। एह दौरान पूर्वांचल समाज बृज विहार के अध्यक्ष राम…

Read More