जाये ना देहब बहरिया, रहीहें घरवे सांवरिया…. सारण भोजपुरिया समाज के ऑनलाइन कवि सम्मेलन में गुंजल कवियन के बोल

सारण भोजपुरिया समाज के ऑनलाइन कवि सम्मेलन में कोरोना से लड़े के कवि लोग दिहलें सनेस भोजपुरी समय, रामेश्वर गोप/शैलेंद्र तिवारी,छपरा/अहमदाबादः एक ओर जहां पूरा देश में कोरोना वायरस से महामारी फइलऽलला के कारण सरकार के द्वारा घोषित लॉकडाउन के कारण सभे अपना अपना घर में रहे के मजबूर बा। अइसन में सोशल मीडिया पर तरह तरह के गतिविधि कर के लोग आपन समय बीता रहल बाडें। एही क्रम में भोजपुरी खातिर काम कर रहल एगो संस्था सारण भोजपुरिया समाज अपना सदस्यन के संगे पहिलका ऑनलाइन कवि सम्मेलन के आयोजन रामनवमी के…

Read More