आर्थिक गतिविधि महामारी से पहिले वाला स्तर पऽ पहुँचल

आर्थिक गतिविधियन के सूचकांक के साथे गतिशीलता, बिजली के खपत अउरी श्रम भागीदारी जइसन उच्च आवृत्ति वाला संकेतक बतावत बाड़े सऽ कि भारतीय अर्थव्यवस्था में आर्थिक गतिविधि कोरोनाकाल से पहिले वाला स्तर से लगभग खाली 1.9% नीचे रहि गइल बा। लगभग सगरी उच्च आवृत्ति वाला आर्थिक संकेतक बतावत बाड़े कि भारतीय अर्थव्यवस्था जल्दिए पूर्व-महामारी के स्तर के जल्दिए पा जाई। हालांकि कि संगही इहो उम्मीद बा कि गतिशीलता आ श्रम भागीदारी संकेतकन के महामारी से पहिले वाला स्तर के पावे में अभी कुछ समय लागी। गतिशीलता संकेतक महामारी के पहिले…

Read More

केन्द्रीय बजट 2021-22

लॉकडॉउन के बाद, जे तरे भारतीय अर्थव्यवस्था में आर्थिक गतिविधि में बढ़न्ती भइल बा ऊ भारतीय अर्थव्यवस्था के मजबूत भविष्य के ओर अँगुरी देखावत बा। शेयर बाजारो एही आशावादी भाव के दर्शावत तेजी के रूख अपनवले बा। बाकिर ई बहुत जरुरी बा कि अर्थव्यवस्था अउरी बाजार के एह आशावादी रुख के बनवले राखे खातिर सरकार से भरपूर अउरी मजबूत सहजोग मिलो अउरी केन्द्रीय बजट ओकर सबसे बरियार माध्यम बा। सरकार केन्द्रीय बजट 2021-22 के ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ से शुरू कइल परियासन के आगे बढ़ावे के परियास करत नजर आवत बे।…

Read More

खेती के लाभकारी बनावे के परियास बा बजट 2020

कृषि बजट 2020

आर्थिक मंदी के कारन अर्थव्यवस्था के सगरी क्षेत्रन से बजट 2020 से बहुते उम्मीद लागल रहल हऽ। बजट 2020 कुछ उम्मीदन के पुरा कइले बा तऽ कुछ उम्मीदन के ओर धियान नइखे दे पवले। बाकिर खेती के हाल सभसे बाउर भइला अउरी मोदी सरकार के 2022 ले किसानन के कमाई दोगुना करे के वादा के कारन ई उम्मीद रहल हऽ कि ई बजट जरूर गाँवन अउरी खेती के ओर विशेष धियान दी। मालूम होखे के चाहीं कि देश के अर्थव्यवस्था मंदी के दौर से गुजरत बा जेवना में ग्रामीण अर्थव्यवस्था…

Read More

बजट 2020: आर्थिक मंदी से लड़े के परियास

अर्थव्यवस्था के सगरी क्षेत्रन के 1 फरवरी के वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण के पेश भइल केन्द्रीय बजट से बहुत उम्मीद रहल हऽ। बजट 2020 लगभग हर क्षेत्र के कुछ उम्मीदन के पूरा कइले बा तऽ कुछ माँगन के पूरा करे में सक्षम नइखे हो पावल। बाकिर ई सामान्य बात बा। केवनो बजट के एगो सीमा होला अउरी ओकरा खाती सगरी माँग पूरा कइल संभव ना होला। सरकार के  संसाधन के सही बंटवारा करे के रहेला अउरी पूरा अर्थव्यवस्था के दशा के आधार पऽ संसाधनन के ई बंटवार होला। बाकिर सरकार के समझ अउरी सोच तय करेला कि केवना क्षेत्र के बेसी महता दिहल जाई अउरी केवना के कम।

Read More

केन्द्रीय बजट 2020

नई दिल्ली आज केन्द्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण लोकसभा में वित्तीय वर्ष 2020-21 खाती बजट पेश कइली हऽ। एह बजट में सभकरा खाती कुछ ना कुछ बा। देखीं यातायात सरकार यातायत संरचना खाती ₹1.7 करोड़ हाईवे अउरी रेलवे के विकास खाती खरच होई। मुम्बई-दिल्ली एक्सप्रेस वे के अलावा दूगो अउरी एक्सप्रेसवे के विकास 2023 से होई। 100 नया एयरपोर्ट के विकास होई आ जहाजन के संख्या दुगुना कइल जाई। खेती अउरी सिंचाई खेती अउरी सिंचाई के क्षेत्र में आधारभूत संरचना के विकास खाती सरकार अगामी वित्तीय वर्ष में ₹2.83 लाख करोड़…

Read More

भारतीय अर्थव्यवस्था में मंदी अस्थायी – आईएमएफ

दावोस स्वीट्जरलैंड के दावोस शहर में विश्व आर्थिक मंच के बैठक में अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष के प्रमुख क्रिस्टलीना जॉर्जिवा भारतीय अर्थव्यवस्था में आइल आर्थिक मंदी पऽ आपन राय रखत कहली कि भारतीय अर्थव्यवस्था में आइल मंदी अस्थायी बा। आगे एकरा में सुधार होई। आईएमएफ़ प्रमुख आगे बात करत कहली, ” हमनी के भारत के अर्थव्यवस्था आर्थिक ग्रोथ के ले के आपन अनुमान घटवले रहनी जा बाकिर हमनी के राय बा कि ई अस्थायी बा।‘ आईएमएफ़ प्रमुख क्रिस्टलीना उम्मीद जतवली कि उभरत अर्थव्यवस्थन में भारत के संगे-संगे इंडोनेशिया अउरी वियतनाम जइसन देशन…

Read More