खेती के लाभकारी बनावे के परियास बा बजट 2020

कृषि बजट 2020

आर्थिक मंदी के कारन अर्थव्यवस्था के सगरी क्षेत्रन से बजट 2020 से बहुते उम्मीद लागल रहल हऽ। बजट 2020 कुछ उम्मीदन के पुरा कइले बा तऽ कुछ उम्मीदन के ओर धियान नइखे दे पवले। बाकिर खेती के हाल सभसे बाउर भइला अउरी मोदी सरकार के 2022 ले किसानन के कमाई दोगुना करे के वादा के कारन ई उम्मीद रहल हऽ कि ई बजट जरूर गाँवन अउरी खेती के ओर विशेष धियान दी। मालूम होखे के चाहीं कि देश के अर्थव्यवस्था मंदी के दौर से गुजरत बा जेवना में ग्रामीण अर्थव्यवस्था…

Read More

बजट 2020: आर्थिक मंदी से लड़े के परियास

अर्थव्यवस्था के सगरी क्षेत्रन के 1 फरवरी के वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण के पेश भइल केन्द्रीय बजट से बहुत उम्मीद रहल हऽ। बजट 2020 लगभग हर क्षेत्र के कुछ उम्मीदन के पूरा कइले बा तऽ कुछ माँगन के पूरा करे में सक्षम नइखे हो पावल। बाकिर ई सामान्य बात बा। केवनो बजट के एगो सीमा होला अउरी ओकरा खाती सगरी माँग पूरा कइल संभव ना होला। सरकार के  संसाधन के सही बंटवारा करे के रहेला अउरी पूरा अर्थव्यवस्था के दशा के आधार पऽ संसाधनन के ई बंटवार होला। बाकिर सरकार के समझ अउरी सोच तय करेला कि केवना क्षेत्र के बेसी महता दिहल जाई अउरी केवना के कम।

Read More

भारतीय अर्थव्यवस्था में मंदी अस्थायी – आईएमएफ

दावोस स्वीट्जरलैंड के दावोस शहर में विश्व आर्थिक मंच के बैठक में अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष के प्रमुख क्रिस्टलीना जॉर्जिवा भारतीय अर्थव्यवस्था में आइल आर्थिक मंदी पऽ आपन राय रखत कहली कि भारतीय अर्थव्यवस्था में आइल मंदी अस्थायी बा। आगे एकरा में सुधार होई। आईएमएफ़ प्रमुख आगे बात करत कहली, ” हमनी के भारत के अर्थव्यवस्था आर्थिक ग्रोथ के ले के आपन अनुमान घटवले रहनी जा बाकिर हमनी के राय बा कि ई अस्थायी बा।‘ आईएमएफ़ प्रमुख क्रिस्टलीना उम्मीद जतवली कि उभरत अर्थव्यवस्थन में भारत के संगे-संगे इंडोनेशिया अउरी वियतनाम जइसन देशन…

Read More

बैंकिंग क्षेत्र दबाव में, सरकार खाती मुश्किल – अभिजीत बनर्जी

जयपुर नोबल पुरस्कार विजेता अउरी प्रसिद्ध अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में एतवार के भारतीय अर्थव्यवस्था में आइल मंदी पऽ आपन राय रखत कहलन कि भारतीय बैंकिंग क्षेत्र एनपीए के समस्या के कारन बहुत दबाव में बा अउरी एह क्षेत्र के उबार सरकार खाती बहुत मुश्किल काम साबित होई। आपन बात आगे बढ़ावत कहलें कि ऑटो सेक्टर में माँग के कमी भारतीय अर्थव्यवस्था में विश्वास के कमी के कारन बा। अभिजीत बनर्जी ‘गुड इकोनोमिक्स फॉर हार्ड टाइम्स’, अउरी ‘पुअर इकोनोमिक्स’ जइसन किताब के लेखक अउरी गरीबी जइसन विषय के…

Read More