कोरोना वायरस के दूसरका लहर के बीचे मोदी कइले देश के संबोधित

राम प्रकाश तिवारी, भोजपुरी समय, नई दिल्लीः  कोरोना वायरस के दूसरका लहर के बीचे  पीएम मोदी देश के संबोधित कइले। अपना संबोधन के शुरुआत में मोदी कोरोना वायरस के एह दूसरका लहर में आपन जान गंवावे वाला लोगन के प्रति आपन शोक जतवले आ एह दौरान ओह सभे कोरोना वारियर्स के सराहना कइले जे एह महामारी के घरी में आपन जिनगी के परवाह कइले बिना दिन रात लोग के सेवा में जुटल बा।

पीएम मोदी जनता से निहोरा कइले कि हमनी के एह विकट इस्थिति में आपन धीरज नइखे छोड़े के। देश में ऑक्सीजन के मांग बढ़ल बा, आ राज्य सरकारन के संगे-संगे केन्द्र सरकार नया ऑक्सीजन प्लांटन के लगावे के काम में लागल बा।  एकरा अलावा पीएम मोदी इहो कहले कि देश में कोरोना के  वैक्सीन के उत्पादन में बढ़ोतरी भइल बा। आज राष्ट्र के नांवे अपना संबोधन में पीएम मोदी लोग से मर्यादा के पालन करे, अनुशासन आ धैर्य राखे के आवाहन कइले। ऊ कहलें कि जन-भागीदारी से चुनौती पर विजय प्राप्त होखी। सरकार के देश में व्यवस्था के मज़बूत करे के पूरा प्रयास जारी बा।

नवयुवा लोगन से  पीएम के निहोरा

अपना संबोधन के दौरान पीएम मोदी देश के युवा पीढ़ी आ लइकन से निहोरा करत कहले कि देश के युवा लोग अपना-अपना सोसाइटी, गली-मौहल्ला, गांव-नगर में कोरोना अनुशासन समिति बना के लोगन के कोरोना वायरस से बचाव खातिर सरकार द्वारा बनावल नियमन के अनुपालन करे खातिर समझावे लोग। देश के लइकन के आपन बालमित्र बतावत पीएम मोदी कहलें – हम अपना बालमित्र लोग से निहोरा करेब कि ऊ लोग जइसे स्वच्छ भारत अभियान के बेरा अपना-अपना घर में अपना गार्जियन आ परिवार के लोग के सड़क आ सार्वजनिक जगहा पर गंदगी ना फइलावे खातिर अपना बाल मनुहार आ तरीका से समुझवले वइसहीं अबहींयो अपना घर में अइसन माहौल बनावे लोग कि केहू बिना कवनो जरुरी काम के घर से बहरी मत निकले।

राज्यन पर छोड़ले लॉकडाउन के फैसला

अपना संबोधन में पीएम मोदी कहलें कि पछिला साल देश के पता ना रहे कि कोरोना जइसन बेमारी से कइसे बचाव कइल जाव बाकिर अब हमनी के सतर्क बानी जा।  आ केन्द्र सरकार के संगे-संगे राज्य सरकारन के इहे प्रयास बा कि केहू के रोजी-रोटी पर कवनो आंच ना आवे। एह से भारत सरकार लॉकडाउन लगावे के फैसला के राज्य सरकारन पर छोड़ देले बा। एकरा संगहीं पीएम राज्य सरकारन से इहो कहले कि ऊ अपना राज्य में कोरोना वायरस के ई दूसरका लहर से लोगन के जिनगी बचावे खातिर संपूर्ण लॉकडाउन लगावे के अन्तिम विकल्प के रुप में राखे।

अपना संबोधन में पीएम मोदी कहले कि कोविड-19 के वैक्सीन पहिले के जइसहीं देश के सभ सरकारी अस्पतालन में गरीब, निम्न मध्य वर्ग आ पैंतालिस बरिस से ऊपर के लोगन के मुफ्त में मिलत रही। आगे पीएम कहलें कि अबहीं ले देश में 12 करोड़ लोगन के कोविड-19 के वैक्सीन लाग चुकल बा।

Related posts

Leave a Comment

5 × three =