सारण भोजपुरिया समाज ऑनलाइन कवि सम्मेलन से जयंती पर वीर कुंवर सिंह के दिही श्रद्धांजलि

सारण भोजपुरिया समाज ऑनलाइन कवि सम्मेलन से जयंती पर वीर कुंवर सिंह के दिही श्रद्धांजलि

भोजपुरी समय, शैलेंद्र तिवारी, सारणः सन 1857 के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम भा क्रांति के महानायक बिहार के शान बाबू वीर कुंवर सिंह के आज 243वां जन्मदिन पर सारण भोजपुरिया समाज ऑनलाइन कविगोष्ठी सह गीत गवनई के द्वारा आपन श्रद्धांजलि दिही। एह कार्यक्रम में सारण भोजपुरिय समाज के तमाम सदस्य आ जवना में पूर्वांचल रत्न से सुशोभित हास्य कवि बादशाह प्रेमी, लोकगायिका संजोली पांडेय, प्रीति कुशवाहा आ गायत्री यादव के संगे-संगे यूपी के बलियां से लोकगायक शशि अनारी, सारण के शान लोककलाकार रामेश्वर गोप आ भोजपुरी गजल के उदीयमान सितारा रवीश कुमार शानू भी शामिल होइहें।

देश के कोना कोना से शामिल होइहें कवि-कवियत्री

कार्यक्रम के बारे में भोजपुरी समय से फोन पर जानकारी देत सारण भोजपुरिय समाज के अध्यक्ष ज्वाला सिंह बतवनी कि एह कार्यक्रम में सारण प्रमंडल के तीनों जिला के अलावा देश के अलग-अलग जिला में बसल एह संस्था के सदस्य लोग भाग लिही। एह क्रम में अहमदाबाद से मोहब्बत के कवि शैलेन्द्र कुमार तिवारी “शैलेन्द्र”,  गणपति सिंह “गीत”, योगगुरु शशि प्रकाश तिवारी सहित रमा मशंकर तिवारी “भटकेशरी”, बंगलूरू से शशिरंजन शुक्ल “सेतु”,  आरा से विभिन्न छंद विधा के कवि आ शिक्षाविद अमरेंद्र सिंह आरा, कवि सम्राट पंकज,  चंद्रगुप्त नाथ तिवारी,  मृत्युंजय सिंह, अरविंद श्रीवास्तव,  मधुबाला वर्मा, सिद्धेश्वर नाथ पांडेय, आदि कवि लोग शामिल रही।

भोजपुरी के गणमान्य लोग भी रहीहें शामिल

ओहिजा ऐह कार्यक्रम के अध्यक्षता वरिष्ठ कवि आ सामाजिक कार्यकर्ता दिवाकर उपाध्याय करेम।ओहिजा कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन सारण भोजपुरिया समाज के संरक्षक सुरेश कुमार मुंबई के द्वारा होखी।  कार्यक्रम में लोकगायक आ भोजपुरी के साहित्यकार संगीत सुभाष पांडेय, दिनेश पांडेय तारकेश्वर राय तारक के संगे-संगे अंर्तराष्ट्रीय हास्य कवि डॉ. अनिल चौबे मनोज भाउक, सुशांत शर्मा, संजय मिश्रा “संजय”, भोजपुरी हिन्दी आ उर्दू के वरिष्ठ साहित्यकार आ विद्वान डॉ. जौहर शफियाबादी के संगे-संगे “जय भोजपुरी जय भोजपुरिया” संस्था के अध्यक्ष सतीश कुमार त्रिपाठी के अलावा “सारण भोजपुरिया समाज” के संस्थापक बिमलेन्दु भूषण पांडेय, गौरवमयी उपस्थिति आ सानिध्य रही। एकरा अलावा ज्वाला सिंह बतवनी हऽ कि एह कार्यक्रम के संचालन छपरा के रहेवाला वाकिर वर्तमान में क्वांटम विश्वविद्यालय रुड़की, हरिद्वार में सहायक प्राचार्य आ युवा कवि रामप्रकाश तिवारी “ठेठबिहारी” करीहें।

Related posts

Leave a Comment

five + 5 =