महेंन्द्र मिसिर के नाम पर ई-पुस्तकालय के स्थापना पर ऑनलाइन कवि सम्मेलन के भइल आयोजन

राम प्रकाश तिवारी,भोजपुरी समय, छपरा: आज जब चारोें ओर भोजपुरी भाषा के मान सम्मान के पुर्नस्थापना, भोजपुरी भाषा में अश्लील गीतन पर रोक लगावे अऊरी एकर बहिष्कार करे के मुहिम चल रहल बा। अइसन में भोजपुरी भाषा के नवका पीढ़ी में रोपे के संगे-संगे पुरनका आ नयका समय के भोजपुरी के कवि, रचयिता,गीतकार आ कलमकार के मान सम्मान खातिर हरदम प्रयत्नशील रहेवाला मंच अखिल भारतीय भोजपुरी संघ भोजपुरी के महान गीतकार, भोजपुरी गीतन के पहचान पूर्वी के जनक आ स्वतंत्रता सेनानी, समाज सुधारक पंडित महेंनदर मिसिर के नांव पर स्थापित ई-पुस्तकालय के स्थापना पर ऑनलाइन कवि सम्मेलन के आयोजन कइलस।

एह आयोजन के शुरुआत संस्था आ कार्यक्रम के अध्यक्ष वरिष्ठ कवि अजय सिंह”अजनबी” दीया जरा के कइनी। ओहिजा एह आयोजन में बिहार के अलावा गुजरात, दिल्ली, मुंबई आ आसाम में रहेवाला भोजपुरी कवि-कवियत्री लोग ऑडियो के माध्यम से आपन- आपन प्रस्तुति दिहल लोग। एह कवि सम्मेलन में प्रमुख रुप से भोजपुरी के शामिल कवि लोग में भोजपुरी आ हिन्दी के युवा आ मोहब्बत के राजकुमार के नाम से विख्यात कवि गीतकार शैलेन्द्र सरगम, संजय कुमार ओझा, अजय सिंह ‘अजनबी’, बृज मोहन उपाध्याय, दिलीप पैनाली, शैलेन्द्र कुमार साधु , प्रियंका कुमारी , रणंजय सिंह उर्फ खूँटातोड़, बिजेन्द्र कुमार तिवारी उर्फ बिजेंदर बाबू, सुप्रिया प्रीतम, कृष्णा साहनी, डॉ0 रजनी रंजन, सम्राट पंकज, संजय ओझा ‘निपढ़’ बक्सर रहलें।

एह कार्यक्रम के संचालन दिल्ली से संजय कुमार ओझा आ आसाम से व्यंगय के कवि के रुप में प्रसिद्ध वरिष्ठ कवि दिलीप पैणाली अपना चिरपरिचित अंदाज में कइनी। एह आयोजन के सबसे सर्वश्रेष्ठ प्रस्तुतियन में शामिल गीतकार शैलेंद्र सरगम के गीत “एगो बिटिया होखे द पिया” जवना के ऊ बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ अभियान के समर्थन के रुप में प्रसतुत कइले के सभे श्रोता मुक्तकंठ से प्रशंसा कइलस।

देर रात तक चलल एह आयोजन के समापन के घोषणा आ धन्यवाद ज्ञापन संस्था के अध्यक्ष अजय सिंह अजनबी आ संजय ओझा जी कइनी। अपना संबोधन में  इहां लोग मंच के अगिला कार्यक्रम में भोजपुरी के आउर नया आ पुरान कवि-कवियित्री के जोड़े खातिर आपन इच्छा  जतावत प्रस्ताव राखल। एह प्रस्ताव के कार्यक्रम में शामिल सभे लोग समर्थन कइल।

Related posts

Leave a Comment

11 + sixteen =