जन-जन के मन में आजो जीवित बानी देवरहवा बाबा,निर्जीव आ सजीव पर रहे देवराहा बाबा के नियंत्रण- गणेश नाथ तिवारी

जगप्रसिद्ध देवरहवा बाबा के आज पुण्यतिथि बा। एह पावन दिन पर अपना संस्मरण से पुज्य बाबा के आपन श्रद्धांजलि दे रहल बानी गणेश नाथ तिवारी “विनायक” देवरहवा बाबा, उत्तर प्रदेश के देवरिया जिला में एगो योगी, सिद्ध महापुरुष अउरी सन्तपुरुष रहले। डॉ॰ राजेन्द्र प्रसाद, महामना मदन मोहन मालवीय, पुरुषोत्तमदास टंडन जइसन विभूती पूज्य देवरहा बाबा के समय-समय पर दर्शन क के कृतार्थ अनुभव कइल लोग। देवरहवा बाबा के उमिर के लेके लोग के रहेला संशय देवरहवा बाबा के जनम अज्ञात रहल। इहाँ तक कि ऊहां के सही उमीर के कवनो…

 45,592 total views,  534 views today

Read More

भोजपुरी खातिर आईं ट्रेंड करावल जाव #bhojpuritradition

भोजपुरी समय,दिल्ली डेस्कः भोजपुरी के संविधान के आठवां अनुसूची में स्थान दिववावे खातिर आज भारत में तमाम संस्था काम कर रहल बाड़ी सं। ई सभ संस्था अपना अपना स्तर पर भोजपुरी के बचावे आ जोगावे के संगे-संगे आगे बढ़ावे में भी लागल बाड़ी सं। एही क्रम में कुछ दिन पहिले #bhojpuri के कुछ युवा लोग के पहल पर सारा भोजपुरिया बधार सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर ट्रेंड करावल लोग। अब फेर से तारिख 30.05.2020 दिन शनिचर के दुपहरिया में 2 बजे से लेके सांझी 5 बजे ले #bhojpuritradition ट्रेंड करावे…

 53,590 total views,  512 views today

Read More

पालघर के घटना के पाछे केकर रहे हाँथ?  

पालघर के घटना के पाछे केकर रहे हाँथ              अहिंसा परमो धर्मः के आपन मूल मन्त्र माने वाला गाँधी बाबा के देश मे क्षत्रपति शिवाजी,संत एकनाथ, संत नामदेव जइसन अनगिनित सन्त के जनम देवे वाली पावन धरती महाराष्ट्र राज्य के पालघर जिला में गड़चिनचले गाँव मे 16 अप्रैल 2020 के राती के एगो अइसन जघन्य घटना घट गइल जेकरा के देखी के सुनी के समूचा देश में आक्रोश के आगी भड़क रहल बा । का रहे उ घटना ? कहल जाला की तस्वीर कबो झूठ…

 66,125 total views,  509 views today

Read More

कोरोना महामारी के चलते बिलखत प्रवासी मेहनतकश

**कोरोना महामारी क़े चलते बिलखत प्रवासी मेहनतकश ** ई रोटी इंसान से का का ना करवावेले एहि रोटी के पाछे आदमी कबो गिरमिटिया बनी जाला त कबो झरिया के कोइला के खाद्दान में कुछ पइसा खातिर जिनिगी के दाव पर लगा देला, त कबो दिल्ली, सूरत, मुंबई, पंजाब अउरी दुनिया जहान में छीटा जाला आपन घर परिवार के निमन जिनिगी खातिर l आफत बिपत कबो अकेले ना आवे उ अपना साथे लेले आवेला अउरी तरह तरह के समस्या । लेकिन सभकर धियान मूल समस्या की ओर जियादा रहेला ओहि के…

 25,454 total views,  2 views today

Read More

हिंदी पत्रकारिता में उत्कृष्ट योगदान खातिर प्रो. के. जी सुरेश के मिली गणेश शंकर विद्यार्थी पुरस्कार

हिंदी पत्रकारिता में उत्कृष्ट योगदान खातिर प्रो. के. जी सुरेश के मिली गणेश शंकर विद्यार्थी पुरस्कार भोजपुरी समय, आर. पी. तिवारी, नई दिल्लीः पत्रकारिता में उत्कृष्ट जोगदान दिहला खातिर मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अंतर्गत आवे वाला केंद्रीय हिंदी संस्थान, आगरा असों के गणेश शंकर विद्यार्थी पुरस्कार खातिर देश के वरिष्ठ पत्रकार आ भारतीय जनसंचार संस्थान नई दिल्ली के पूर्व महानिदेशक प्रो. के जी सुरेश के देवे के घोषणा कइले बा। जानकारी खातिर बता दिहीं कि ई पुरस्कार हर बरिस ईलेक्ट्रॉनिक मीडिया आ प्रिंट मीडिया खातिर देश के दूगो पत्रकारन…

 23,500 total views,  1 views today

Read More

भोजपुरी में शब्द के ठीक पहिचानल जाव आ ओही अनुसार लिखल जाव उहे ठीक रही- दिनेश पांडेय

भाषा विचार ढेर लोग कहेलें कि भोजपुरी में जवन बोलल जाला ऊहे लिखल जाला। ई बात पूरा साँच ना ह। भाषा के संबंध मूलतः ध्वनि से ह। ध्वनि पदार्थ में कंपन से उत्पन्न उर्जा के एगो रूप ह। ई उत्पन्न होके फैलजाला, ससर जाला आ फेरु रूपांतरित हो जाला। भाषा बिचार के आदान-प्रदान के माध्यम ह। बिचार के सुरच्छित राखे के जरूरत से लिपि के बिकास भइल जवन मूल ध्वनि बदे रूढ़ि से प्राप्त लेखन चिन्ह ह। हर भाषा में बोले आ लिखे में एकदम से सटीकता ना रहे बलु…

 14,756 total views

Read More

जिम्मेदारी के निर्वाहन में कोताही

coronavirus कोरोना वायरस

जिम्मेदारी के निर्वाहन में कोताही- समसामयिक घटनाचक्र पर लिखल शशि अनारी जी के रचना एक बार एगो राजा के राज में महामारी फइल गइल चारो ओर लोग मरे लगले राजा महामारी रोके खाति बहुतेरे उपाय करववले बाकि महामारी के असर कम ना भइल लोगन के मुवल बन ना भइल ! दुखी राजा भगवान से प्रार्थना करे लगले कि हे मालिक अब हम का करी तले अचके मे आकाशवाणी भइल आसमान से आवाज आइल कि ऐ राजा ! तहरा रजधानी के बीचो बीच जवन इनार बा उ सूखि गइल बा अगर…

 8,937 total views

Read More

कोरोना आ लॉकडाउन के बहाने नवका पीढ़ी के अपना संस्कृति से करवाईं परिचय

Ramayan रामायण

मन बड़ा दुखाला जब छोट छोट बात प खून के रिश्ता के खून के आंस बहावत देखिला । कबो धन खातिर मान खातीर अपमान खातीर नावा के पावे बदे पुरान मजबुत रिश्ता के बंधन के ढिल होखत टूटत देखिना । कुछ अपवाद के छोड़ दिहल जाव त अधिकांश रिश्ता के फेड़ उहे हरियर बा जहँवा से कुछ मिलत होखे बा मिले के आस होखे । बाकी रिश्ता नाता त मुरझा रहल बा मसुवा रहल बा सोर जमीन छोड़हिं वाला बा हलुके हवा के जरूरत बा । जेके बोले सिखावल रहे…

 5,230 total views

Read More

बिहार के बढंती में नेता लोग के महान योगदान बा- एगो व्यंग्य

बिहार के वर्तमान दशा आ दिशा पर दिलीप पैनाली जी के एगो व्यंग्य बिहार का नेताजी लोगन आ कुछ विशिष्ट प्रजाति के जनमानस लोगन का अथक प्रयास से उन्नति के राह बंद होके एह राज्य का जवन अप्रतीम सफलता आ मान सम्मान मिलल बा ओह पर राष्ट्रे ना समस्त विश्व अचरज में बा। होखो काहे ना जी जहाँ से हर साल लावा घुली जस अनेको प्रतियोगी परीक्षा में हजारन प्रतिभागी उतीर्ण भइलो का बाद नोकरी छोड़ बिहारे में व्यपार करत होखस, तीन साल के डिग्री के कोर्स पाँच बरिस में…

 9,158 total views,  2 views today

Read More

प्राकृतिक आपदा के कारण बा प्रकृति चक्र से छेड़छाड़-अमरेंद्र कुमार सिंह

आज जब समूचा विश्व कोरोना दइसन महामारी से जूझ रहल बा अइसन में एकरा से बचे के उपाय आ एह तरह के प्राकृतिक आ आदमी के बनावल आपदा के कारण पर संक्षेप में चर्चा किले बानी आरा के प्रख्यात कवि आ भोजपुरी के लेखक अमरेंद्र कुमार सिंह, त आईं पढ़ल जाओ ऊंहा के लिखल ही लेख प्रकृति चक्र से छेड़छाड़ बा आपदा के कारण ब्रह्माण्ड के प्रकृति चक्र के असंतुलित होखला से, आजु पूरा के पूरा मानव जाति डेराई के घर में लूकाइल बा, जवना के समूचा दोष खुद अदिमी…

 8,273 total views,  4 views today

Read More