छठ आउर सूर्य पूजा

कार्तिक मास के अमावस मने दियरी के चउथा दिन से शुरु हो जाला प्रकृति आ साय़ात देव भगवान सूर्य के उपासना के महापरब छठ। चार दिन ले चले वाला एह महापरब में भगवान सबर्य के उपासना के का महात्म बा, काहें उनकर पूजा कइल जाला एह पर अपना लेख के माध्यम से प्रकाश डाल रहल बानी भारत से लाखन किलोमीटर दूर रहे वाला श्री रुद्र दुबे जी। त आईं पढ़ल जाव रुद्र दुबे जी के ई आलेखः  छठ आउर सूर्य पूजा “ओम ह्रीं ह्रीं ह्रौं सः सूर्याय नमः” छठी मइया…

 10,679 total views,  1,055 views today

Read More

भोजपुरी के संवैधानिक मान्यता में बाधा काहे- हृषिकेश चतुर्वेदी

भोजपुरी के संवैधानिक मान्यता पर आईं पढ़ल जाव भोजपुरी के विद्वान श्री हृषिकेश चतुर्वेदी जी के ई आलेख: सजाऊंगा लुटकर भी तेरे बदन की डाली को:- जगन्नाथ जी के किताब ‘भोजपुरी गजल के विकास यात्रा ‘ पढत घरी एगो बात जगन्नाथ जी के लिखल पढे के मिलल ह। उहाँ के लिखत बानी कि — “तेग अली ‘तेग’ के बाद भोजपुरी गजल तकरीबन 40-50 साल के शुन्यता से गुजरल । दरअसल इ जमाना हिन्दी निर्माण के रहे । सबका एके धुन एके निसा सवार रहे कि केह तरे हिन्दी के समुन्नत…

 26,808 total views,  337 views today

Read More

अस्त हो गइल एगो नवहा सितारा: सुशांत सिंह राजपूत

केकरा मन में कौन खिचड़ी पाकता केहुके कइसे मालुम होई? काहे ना चेहरा बता देला दिल के हाल? ई चीला चीला के पूछ रहल बा प्रशंसक लोग हित मीत संगी साथी बहिन बाप आ अउरी परिजन लोग भी। जबतक दुनियाँ के पता चलो की का भइल कइसे भइल? तब तक ना खत्म होखे वाला सफर पर निकल गइलन सिने जगत के चमकत दमकत महेन्द्र सिंह धोनी के किरदार के पर्दा पर जीवन्त करे वाला सितारा सुशांत सिंह राजपूत। 34 साल के कमें उमीर में बम्बई के बाँद्रा में फँसरी लगाके…

 135,294 total views,  616 views today

Read More

कोरोना वायरस अउरी भारतीय अर्थव्यवस्था

कोरोना वायरस के बढ़त प्रकोप के कारन सगरी देश में लॉकडॉउन लागल बा। एह लॉकडॉउन के कारन शुरूआती दौर में देश के आर्थिक गतिविधि में लगभग 75% ले कमी आ गइल रहल। बाकिर आवश्यक वस्तुन अउरी सेवा के आदान प्रदान प छूट मिलला के बादो भारतीय अर्थव्यवस्था में आर्थिक गतिविधि में लगभग 60% के कमी बनल बा। जदि 4 मई के लॉकडॉउन खुलियो जाता तब्बो देश के आर्थिक गतिविधि पूरा तरह से शुरू ना हो पाई। एह कारन संभावना बा कि उत्पादन अउरी उपभोग में बहुत ज्यादा कमी आई जेकरा…

 151,929 total views,  310 views today

Read More

देश के भीतर मूलभूत एकीकरण -१: प्रशासनिक एकीकरण

अभी तक ले हमनी के पहिला अध्याय में देखनी जा कि कईसे लार्ड माउंटबेटेंन, सरदार पटेल, जवाहर लाल नेहरु अउरी वी.पी. मेनन के टीम पाहिले त्रावनकोर ओकरा बाद जोधपुर, जैसलमेर, जूनागढ़, हैदराबाद अउरी कश्मीर के एकीकरण करे में सफल भईले जा| बहुत मुश्किल से सारा राज्यन के एकीकरण कईलेजा| हर जगह पाकिस्तान अउरी राजा राजवाडान के मंशा के मात देत भारत में राज्यंन के विलीनीकरण करवावे के सफल भईलेजा| राज्यंन के एकीकरण भईला से समस्या ख़त्म ना हो गईल रहे| अब चुनौती देश के भीतर होखे वाला हलचल से रहे|…

 53,859 total views

Read More

का होई लॉकडाउन 3.0 के?

जब दुनिया भर में कोरोना वायरस से जंग छिड़ल बा, जहां बड़का बड़का सुपर पावर देश एकरा आगे आपन ठेहुना रोप देले बा। अइसन में हमनी के आपन देश भारत जदि आज कई देशन से बेहतर इस्थिति में बा त ई सभ सरकार के द्वारा लगावल लॉकडाउन के ही परिणाम बा। बाकिर जइसे जइसे समय बढ़त जाता लोग अब एह लॉकडाउन से ऊबीया रहल बा। खैर लोग के त कामे बा कुछ ना कुछ कहल। हम आ रउआ कुछ नइखीं सं कर सकत। चलीं ई सभ छोड़के आज के मुद्दा…

 14,396 total views,  2 views today

Read More

मदर्स डे

आज सबेरे से ही जइसे मोबाइल खोलनी हऽ वहाट्सएप से लेके फेसबुक आ सगरी सोशल मीडिया पर खाली एकेगो सनेस रहल सनेस रहल हऽ हैप्पी मदर्स डे। तब हम सोंच में पड़ गइनी हऽ कि का अपना माई-बाप के प्रति आपन प्यार आ आदर जतावे भा देखावे खातिर हमनी के कवनो दिन विशेष के जरुरत पड़ी। हमरा हिसाब से त ना, काहे से कि हमनी के भारतीय संस्कृति में त कम से कम अइसन नाहिए बा। हमनी के त दिन के शुरुआते होला माई के गोहरा के आ सुते के…

 4,340 total views,  2 views today

Read More

लॉक डाउन से निफिक्र रसूखदार

लॉक डाउन से निफिक्र रसूखदार के जानता नियति के नियत के ? कोरोना बेमारी के बारे में इ कहल बेजाँय त नहिये कहाई आजु काल के हालात के देखि के । सगरी संसार के ई बेमारी ध के पटक देले बिया भुइँया लोट के छटपटइला के सिवा खाली एकही रस्ता बतावता दुनियाँ के जान बचावे में माहिर जनकार लोग की साफ़ सफाई से एकन्ता दुरी बना के रहे से ही जान बाँची । ना केहू बहरी से आवो ना बिना कवनो खूबे जरूरी काम के केहू घर के चौखट लाँघो।…

 21,441 total views,  2 views today

Read More

संक्रमण से बचावे बा उपाय

कोरोना से बचाव के उपाय

आज चीन पूरा दुनियाँ में तहलका मचवले बा खाली आपन उत्पादन क्षमता आ उत्पाद से ना बल्कि कोरोना जइसन महामारी के कारण भी। नाम बड़े आ दर्शन छोटे वाली कहावत के चरितार्थ करत नावें खाली चीन ह चीनी जइसन मिठास से कवनो दुरो के हितइ नतइ भा भर भवद्दी नइखे एकर। भले एकर आँख ना खुलत होखे लेकिन आज इ पूरा दुनियाँ के आँख खोल देले बा। आज नाम सुनते मन में कड़वाहट घुल जाता। कभी अंतरिक्ष में कचरा, कभी हथियार, कभी सीमा के तोड़ के घुसपैठ आ कबो यू…

 27,786 total views

Read More

निर्भया के दोषी नीर-भय के क़िस्सा खत्म

निर्भया केस

 निर्भया के चारु दोषियन के आज सबेरे फांसी भइला के बाद जहां सभ लोग एकरा के निर्भया के मिलल इंसाफ कह रहल बाड़न ओहिजा एगो प्रबुद्ध भोजपुरिया आ सिरिजन ई-पतिरिका के उपसंपादक तारकेश्वर राय जी के का विचार बा जानीं एह लेख में। खिलाड़ी उ होला जे खेले में माहिर होला या त खिलाड़ी होलन नेता राजनेता जे राजनीति के अइसन माहीर खिलाड़ी होलन की जनता उनकरा भाषण पर लट्टू हो जाले । आ आपन बहुमुल्य मत उनकरा झोरी में डाल के जितावेले आ फेर पाँच बरिस उनकरा पाछे पाछे…

 26,304 total views

Read More