देश के भीतर मूलभूत एकीकरण – २: आर्थिक एकीकरण

अभी तक ले हमनी के पहिला अध्याय में देखनी जा कि कईसे लार्ड माउंटबेटेंन, सरदार पटेल, जवाहर लाल नेहरु अउरी वी.पी. मेनन के टीम पाहिले त्रावनकोर ओकरा बाद जोधपुर, जैसलमेर, जूनागढ़, हैदराबाद अउरी कश्मीर के एकीकरण करे में सफल भईले जा। कतना मुश्किल से सारा राज्यन के एकीकरण कईलेजा। हर जगह पाकिस्तान के मात देत भारत में राज्यंन के विलीनीकरण करवावे के सफल भईलेजा। राष्ट्र के एकीकरण हो गईल। ओकरा बाद देश के भीतरी मूलभूत एकीकरण के जरूरत पडल। एकरा से पिछला अध्याय में समझनिजा कि कईसे प्रशासनिक एकीकरण भईल।…

Read More

देश के भीतर मूलभूत एकीकरण -१: प्रशासनिक एकीकरण

अभी तक ले हमनी के पहिला अध्याय में देखनी जा कि कईसे लार्ड माउंटबेटेंन, सरदार पटेल, जवाहर लाल नेहरु अउरी वी.पी. मेनन के टीम पाहिले त्रावनकोर ओकरा बाद जोधपुर, जैसलमेर, जूनागढ़, हैदराबाद अउरी कश्मीर के एकीकरण करे में सफल भईले जा| बहुत मुश्किल से सारा राज्यन के एकीकरण कईलेजा| हर जगह पाकिस्तान अउरी राजा राजवाडान के मंशा के मात देत भारत में राज्यंन के विलीनीकरण करवावे के सफल भईलेजा| राज्यंन के एकीकरण भईला से समस्या ख़त्म ना हो गईल रहे| अब चुनौती देश के भीतर होखे वाला हलचल से रहे|…

Read More

राष्ट्र एकीकरण के चुनउती – ७: कश्मीर के एकीकरण

कश्मीर के एकीकरण 1947

कश्मीर के एकीकरण अभी तक ले हमनी के देखनी जा कि कईसे लार्ड माउंटबेटेंन, सरदार पटेल, जवाहर लाल नेहरु अउरी वी.पी. मेनन के टीम पाहिले त्रावनकोर ओकरा बाद जोधपुर, जैसलमेर, जूनागढ़ अउरी हैदराबाद के एकीकरण करे में सफल भईले जा। एह कड़ी में मूल रूप से कश्मीर के एकीकरण के कहानी के बारे में चर्चा होई। जम्मू कश्मीर मूल रूप से 1846 में एगो स्वतंत्र राज्य बनल रहे| लगभग चौदहवी शताब्दी तक कश्मीर के राजतंत्र के बागडोर बौध आ हिन्दू राजधर्म के हाथ में ही रहे। अकबर के आक्रमण के…

Read More

राष्ट्र एकीकरण के चुनउती – ६: हैदराबाद के एकीकरण

ऑपरेशन पोलो 1948

हैदराबाद के एकीकरण अभी तक ले हमनी के देखनी जा कि कईसे लार्ड माउंटबेटेंन, सरदार पटेल, जवाहर लाल नेहरु अउरी वी.पी. मेनन के टीम पाहिले त्रावनकोर ओकरा बाद जोधपुर, जैसलमेर अउरी जूनागढ़ के एकीकरण करे में सफल भईले जा। 15 अगस्त 1947 के देश के आजादी मिल गईल, लेकिन आजादी से बाद भी कुछ राज्य जईसे जूनागढ़, हैदराबाद, भोपाल आ कश्मीर आदि प फैसला अभी तक ना हो पाईल रहे। एह कड़ी में मूल रूप से हैदराबाद के एकीकरण के कहानी के बारे में चर्चा होई। एह हैदराबाद रियासत में…

Read More

राष्ट्र एकीकरण के चुनउती – ५: जूनागढ़ का एकीकरण

जूनागढ़

जूनागढ़ का एकीकरण अभी तक ले हमनी के देखनी जा कि कईसे लार्ड माउंटबेटेंन, सरदार पटेल अउरी वी.पी. मेनन के टीम पाहिले त्रावनकोर ओकरा बाद जोधपुर आ जैसलमेर के एकीकरण करे में सफल भईले जा। 15 अगस्त 1947 के देश के आजादी मिल गईल, लेकिन आजादी से बाद भी कुछ राज्य जईसे जूनागढ़, हैदराबाद, भोपाल आदि प फैसला अभी तक ना हो पाईल रहे। एह कड़ी में मूल रूप से जूनागढ़(वर्तमान में गुजरात के स्वराष्ट्र वाला हिस्सा) के एकीकरण के कहानी के बारे में चर्चा होई। जूनागढ़ मूल रूप से…

Read More

राष्ट्र एकीकरण के चुनउती – ४: जोधपुर अउरी जैसलमेर के एकीकरण

जोधपुर अउरी जैसलमेर के एकीकरण

जोधपुर अउरी जैसलमेर के एकीकरण अभी तक एह अध्याय में इ पता चलल कि कईसे लार्ड माउंटबेटेन बाकी के राजवाडा राज्यन के भारत के एकीकरण में साथ देवे खातिर तईयार भईले। ओकरा बाद बारी बारी से सभ राजा लोगन के भारत में विलय करके खातिर आमंत्रित कईले। काफी सारा राजा लोग तईयार हो गईल लेकिन कुछ राजा लोग तईयार ना होत रहे| ओही राजा लोगन के भारत में विलय करवावे खातिर आपन मिशन चलइले जा| सबसे पाहिले वी.पी. मेनन, सरदार पटेल अउरी लार्ड माउंटबेटेंन के तिकड़ी त्रावनकोर मिशन में सफल…

Read More

राष्ट्र एकीकरण के चुनउती – ३: त्रावणकोर के एकीकरण

त्रावणकोर का एकीकरण

त्रावणकोर कऽ एकीकरण पिछला भाग में हमनी के देखनीजा कि कइसे अप्रत्यक्ष रूप से लार्ड माउंटबेटेन रजवाडनं के भारत में विलय करे खातिर कइसे भूमिका तइयार कइलन। जइसे राजा महाराजान के लागल कि ओह लोग के अब ब्रिटेन से कवनो मदद ना मिल पाई तब काफी सारा रियासत के राजा भारत में विलीनीकरण खातिर आपन हुंकारी भर दिहले। लेकिन एह से भारत के एकता के बनाए वाला चुनौती अभी ख़त्म ना भइल रहे। काहे कि पहिले त्रावनकोर फेर हैदराबाद आपन आजादी के तारीख के भी एलान कर चुकल रहे आ हैदराबाद के…

Read More

राष्ट्र एकीकरण के चुनउती – २: इंस्ट्रूमेंट ऑफ़ एक्सेसन

इंस्ट्रूमेंट ऑफ़ एक्सेसन पिछला भाग में हमनी के देखनीजा कि लार्ड माउंटबेटेन पहिले विभाजन प जोर दिहले काहे कि उनका विश्वास ना होत रहे कि कवनो एगो राष्ट्र, एह विविधता के लोकतान्त्रिक रूप से चला पाई। खैर ओकरा बाद उनकर सलाहकार वी.पी. मेनन, माउंटबेटेन एथिकल पाठ पढईले आ जोर देले कि अभियो से गलती सुधारल जा सकेला अगर उ सारा राजवाडनं के भारत में विलय करे में मदद करस। एह सब से भारत अउरी मजबूत होई आ आवे वाला पीढ़ी उनका के भारत के एकीकरण करे वाला नायक के रूप…

Read More

राष्ट्र एकीकरण के चुनउती – १: एकीकरण के भूमिका

एकीकरण के भूमिका इ सीरीज मुख्य रूप से हमनी के पूर्वजन के गहिराह थाती के सरिहारे के एगो छोट प्रयास हऽ। सोशल मीडिया के दुष्परिणाम कहीं आ भा समाज के बदलत प्रवृति कि उ हर समस्या के जर अपना पूर्वज के ही मानेला। बहुत जल्द एह बात के निर्णय करके पूर्वजन के थाती के दरकिनार करके अपना आप के तनिक सहज महसूस करे लागेला। एह तरह के हीन भावना उत्पन्न करे में कहीं न कहीं राजनितिक विचारधारा भी दोषी रहल बा। एह से हमनी के अपना पूर्वज के कईला प…

Read More