केन्द्रीय बजट 2021-22

लॉकडॉउन के बाद, जे तरे भारतीय अर्थव्यवस्था में आर्थिक गतिविधि में बढ़न्ती भइल बा ऊ भारतीय अर्थव्यवस्था के मजबूत भविष्य के ओर अँगुरी देखावत बा। शेयर बाजारो एही आशावादी भाव के दर्शावत तेजी के रूख अपनवले बा। बाकिर ई बहुत जरुरी बा कि अर्थव्यवस्था अउरी बाजार के एह आशावादी रुख के बनवले राखे खातिर सरकार से भरपूर अउरी मजबूत सहजोग मिलो अउरी केन्द्रीय बजट ओकर सबसे बरियार माध्यम बा। सरकार केन्द्रीय बजट 2021-22 के ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ से शुरू कइल परियासन के आगे बढ़ावे के परियास करत नजर आवत बे।…

Read More