विजयादशमी : एगो समूहवाची अभिव्यक्ति

विजयादशमी पर्व शक्ति के पर्व ह। एगो अइसन शक्ति जवन अन्याय के विरोध आ न्याय के साथ देवे। एही विजयादशमी पर्व पर भोजपुरी समय पर पढ़ीं भोजपुरी के वरिष्ठ साहित्यकार आ विद्वान श्री परिचय दास जी के लिखल ई भोजपुरी ललित निबंध  “विजयादशमी: एगो समूहवाची अभिव्यक्ति” विजयादशमी शक्ति क उत्सव ह , मंगल क हेतु. कइसन शक्ति ? जवन अन्याय क प्रतिरोध करे, जवन निर्बल के संबल दे. जवन करुना के समन्वित क के पुरुषार्थ के आधार बनावे. ‘ जे लरै दीन के हेत सूरा सोई ‘ . हर केहू…

 255 total views,  5 views today

Read More